Home शहर और राज्य लाखों का कर्जा चुकाने के लिए पत्नी को मार डाला, लूट दिखाकर...

लाखों का कर्जा चुकाने के लिए पत्नी को मार डाला, लूट दिखाकर पुलिस को किया गुमराह।

1

लाखों का कर्जा चुकाने के लिए पत्नी को मार डाला, लूट दिखाकर पुलिस को किया गुमराह।

IMG 20231201 182511

To repay a loan worth lakhs, he killed his wife and misled the police by pretending to be looted.

पैसों की खातिर एक युवक ने अपनी पत्नी का साड़ी से गला घोंट कर मार डाला। हत्या के बाद शव को घर के बाहर फेंक दिया, फिर अंदर जाकर खुद को चारपाई से बांध लिया। पुलिस को लूटपाट और हत्या की कहानी बताई। जांच में जब मामला खुला तो पुलिस भी हैरान रह गई।

Picsart 23 12 01 18 29 46 711

जानकारी के अनुसार मामला शाहजहांपुर का है। जहां मायके से पांच लाख रुपये नहीं लाने पर रोजा थाना क्षेत्र के गांव सिसौआ निवासी उमेश ने अपनी पत्नी रीना की हत्या कर दी थी। आरोपी ने सोमवार रात करीब दो बजे चारपाई के एक पाये में साड़ी बांधकर सो रही पत्नी के गले में लपेटा, फिर दूसरी ओर खींचकर उसका गला घोंट दिया। उमेश ने रीना की हत्या कर शव मकान के बाहर सड़क पर फेंक दिया था।

IMG 20231201 182411

और कर्जदारो पर लूटपाट के बाद हत्या करने की बात कहते हुए पुलिस को गुमराह किया। मृतका के पिता बटेश्वर ने दामाद समेत छह लोगों पर हत्या का मुकदमा दर्ज कराया था। इंस्पेक्टर रोजा राजीव कुमार ने शक के आधार पर उमेश को हिरासत में लेकर पूछताछ की। जिसमें उसने अपनी पत्नी की हत्या करने की बात स्वीकार की। उसने बताया कि डीजे व जनसेवा केंद्र चलाने के लिए उसने चरखुई गांव की सपना गुप्ता, आजाद और रामापुर निवासी अनिल से उधार लिया था। कारोबार में नुकसान होने पर कर्जदाता रुपये मांग रहे थे। पत्नी रीना से शादी में कम दहेज लाने की बात कहते हुए पांच लाख रुपये लाने का दबाव बनाया था। उसके रुपये नहीं लाने पर साड़ी से गला कसकर हत्या कर दी।

IMG 20231201 182429

सीओ सदर अमित चौरसिया ने बताया कि दिवाली के बाद मायके से रुपये लेकर नहीं आने पर दंपती पर झगड़ा हुआ था। सात दिन पहले उसने हत्या का प्लान बनाया। कर्जदाताओं को रुपये लौटाने के लिए बुलाया था। उनसे बातचीत करते हुए मोबाइल का समय बदलकर फोटो भी खींच लिया था। रात दो बजे बरामदे में साड़ी कसकर रीना की हत्या कर दी।

इसके बाद खुद को चारपाई से बांध लिया। रीना का शव देखकर घर के अंदर आए ग्रामीणों को वह बंधा मिला था। इंस्पेक्टर राजीव सिंह ने बताया कि उमेश को चारपाई से खोलने पर उसने लेनदारों पर नशीला पदार्थ सुंघाकर लूटपाट व रीना की हत्या की कहानी सुनाई थी। लेनदारों के फोटो भी दिखाए थे, जिससे हत्या की शक की सुई उनकी ओर घूम जाए। लेकिन जांच में एसा कुछ नहीं मिला और उसकी पोल खुल गई।

Vijay Bharat

ad516503a11cd5ca435acc9bb6523536?s=150&d=mm&r=gforcedefault=1

1 COMMENT

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here