Wednesday, August 17, 2022
Advertisement
Homeदेशफर्जी दस्तावेज तैयार कर बैंको से लगभग 90 लाख रूपये लोन लेने...

फर्जी दस्तावेज तैयार कर बैंको से लगभग 90 लाख रूपये लोन लेने वाला शातिर अभियुक्त गिरफ्तार। Vicious accused arrested for taking loan of about 90 lakh rupees from banks by preparing fake documents.

विजय भारत न्यूज़ जो कहूंगा सच कहूंगा।

फर्जी दस्तावेज तैयार कर बैंको से लगभग 90 लाख रूपये लोन लेने वाला शातिर अभियुक्त गिरफ्तार।Vicious accused arrested for taking loan of about 90 lakh rupees from banks by preparing fake documents.Picsart 22 08 02 22 59 55 896

वरिष्ठ पुलिस अधीक्षक मेरठ के निर्देशन व पुलिस अधीक्षक अपराध के मार्गदर्शन तथा क्षेत्राधिकारी अपराध एवं क्षेत्राधिकारी कैंट के पर्यवेक्षण में सर्विलांस सेल टीम व थाना लालकुर्ती पुलिस द्वारा धोखाधड़ी कर कागजात के साथ छेड़छाड़ कर कूटरचित दस्तावेज तैयार कर विभिन्न बैंको से लगभग 90 लाख रूपये लोन लेने वाला शातिर अभियुक्त गिरफ्तार।

वादी अर्जुन सिंह पुत्र करन सिंह निवासी मौहल्ला इस्लाम नगर बिजनौर हाल पता सैक्टर 49 शताब्दी नोएड़ा उत्तर प्रदेश, का मेरठ छिपी टैंक स्थित कोटक बैंक खाता संख्या 2513157592 है।जिसमें वादी अपनी बचत का धन जमा करता है। वादी को दिनांक 06.05.2022 को ज्ञात हुआ कि एक अन्य व्यक्ति जिसका नाम अर्जुन पुत्र सरिता सिंह निवासी मकान न0 5/234 रसैल सिंह नगर आई0आई0टी0 रोड़ अलीगढ हाल पता फ्लैट न0 49 टावर 5 एवैन्यू गौड़ सिटी नोएड़ा उ0 प्र0, जिसका आधार नम्बर 965783821995 व मो0 न0 7840867868 है, के द्वारा वादी के कागजात जालसाजी एवं षड़यंत्र करके कोटेक महिन्द्रा बैंक शाखा दिल्ली से 15,14,567 (पन्द्रह लाख चौदह हजार पांच सौ सड़सठ हजार रुपये) वादी के नाम से लिया और लोन की रकम को आईसीआईसीआई बैंक से अपने खाता संख्या 754401501405 में ट्रान्सफर करा ली थी। वादी द्वारा आईसीआईसीआई बैंक से जानकारी की गई तो उन्होने बताया कि उक्त अर्जुन सिंह ने वादी का पैन कार्ड़ न0 KTKPS54802K का गलत तरीके से उपयोग कर वादी के नाम से HDFC BANK, ICICI BANK, AXIS BANK, KOTAK MAHINDRA BANK, ICICI CREDIT CARD, KOTAK MAHINDRA BANK CREDIT CARD से लगभग 90 लाख रुपये का लोन ले रखा है।

पूछताछ मे अभियुक्त ने बताया कि मैं NAUKRI.COM वैबसाईट पर जाकर लोगो की प्रोफाईल चैक करता था, फिर उन्हे कॉल कर नौकरी का झांसा देकर उनके DOCUMENTS मंगवा लेता था तथा उन DOCUMENTS को EDIT कर स्वयः की फोटो लगाकर उनके नाम पर जॉब करने लगता और फिर लोन के लिए उन्ही DOCUMENTS से APPLY करता था।

मैनें अर्जुन सिंह (वादी मुकदमा लालकुर्ती) के पहचान पत्र स्वयः की फोटो लगाकर एड़िट किया और उन फर्जी पहचान पत्रो के आधार पर गुरुग्राम स्थित एक software कम्पनी मे अर्जुन सिंह के नाम से जॉब शुरू कर दी। मैनें 7840867868 नम्बर दिया वही नम्बर मेने अपने आईसीआईसीआई बैंक के वेतन खाते मे प्रयोग किया था। इसी वेतन खाते में मैनें आईसीआईसीआई बैंक से 20 लाख का लोन लिया था।फिर मैनें कोटेक और एक्सिस दोनो बैकों में लोन के लिए अप्लाई किया और दोनो बैंकों ने लोन दे दिया । बैंक से इन सभी लोन के लिए मैनें अर्जुन सिंह के दस्तावेजों मे EDIT करके अपना फोटो लगा दिया था। उसी से लोन पास हो गया। मुझे लोन में 20 लाख आईसीआईसीआई से और 15 लाख एक्सिस बैंक से APPROVED हुए थे और वेतन खाते मे लोन का पैसा आ गया था। उसके बाद सारा पैसा खाते से निकाल लिया, फिर एचडीएफसी बैंक मे ONLINE LOAN के लिए APPLY किया और वह लोन भी APPROVED हो गया और खाते मे आ गया, जिसे मैने निकाल लिया। इस तरह से मैंने अर्जुन सिंह के नाम से फर्जी तरीके से लगभग 90 लाख रूपये का लोन लिया। उस पैसे में से मैंने 200 वर्ग गज की प्रॉपर्टी शाहबेरी नोएड़ा में खरीदी जिसमे 40 लाख कैश व 15 लाख खाते से भेजे तथा नोएड़ा में ही कम्पयूटर सॉफ्टवेयर की पढाई की एक एकेड़मी खोल ली। मैं नौकरी के लिए लोगो से उनके कागजात लेता था उन्हे ऐडिट करके अपना फोटो लगाकर लोन के लिए अप्लाई करता और लोन APPROVED हो जाता। इसके अलावा मैनें और भी लोगो के दस्तावेज कूटरचित करके तैयार कर रखे थे, जिनके आधार पर मैं नौकरी के लिए इन्टरव्यू दे रहा था, ताकि आगे भी इसी तरह फर्जी दस्तावेजों के आधार पर बैंको से लोन ले सकू।

1 COMMENT

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here

- Advertisment -

Most Popular