Sunday, September 25, 2022
Advertisement
Homeलाइफस्टाइलरेसिपीजनकली काली मिर्च बनाने वाले गिरोह का खुलासा करते Police ने 4...

नकली काली मिर्च बनाने वाले गिरोह का खुलासा करते Police ने 4 लोगों को गिरफ्तार किया है।

विजय भारत न्यूज़ जो कहूंगा सच कहूंगा।

नकली काली मिर्च बनाने वाले गिरोह का खुलासा करते Police ने 4 लोगों को गिरफ्तार किया है।

The police have recovered 844 kg of fake black pepper, 25 quintals of bad green, color etc. from the spot.Picsart 22 08 17 14 19 54 207

पुलिस को मौके से 844 Kg नकली काली मिर्च, 25 कुंतल खराब हरा, रंग आदि सामान बरामद किया है।

बतादे की अपर पुलिस अधीक्षक संजय कुमार ने मंगलवार को बताया कि थाना मदनापुर पुलिस ने बीती रात करीब एक बजे ग्राम बरुआ पट्टी सनायक मे पट्टे गुप्ता की बनी दुकान व मकान पर छापेमारी की ओर नकली काली मिर्च बनाते हुए थाना जलालाबाद क्षेत्र निवासी आनन्द गुप्ता, अनिल कुमार, सोनेलाल व हरिनाथ को गिरफ्तार कर लिया। पुलिस को मौके से 844 किलो ग्राम नकली काली मिर्च, 25 कुंतल हरी मटर, एक कट्टे में रासायनिक पदार्थ, 136 डिब्बे अजन्ता सिन्थेटिक कलर, एक इलेक्ट्रानिक तराजू, गैस सिलेण्डर, भट्टी व नकली काली मिर्च बनाने के उपकरण बरामद किये गये।

एएसपी ने बताया की पकड़े गए आरोपी आनन्द गुप्ता ने बैंग्लोर में नकली काली मिर्च बनाना सीखा और कुछ दिन वहां यह काम करता रहा। जिसके बाद उसने बरुआ पट्टी सनायक में काम शुरू कर दिया। यह लोग कानपुर गल्ला मण्डी से खराब छोटी हरी मटर लेकर आते हैं। यहां उसे उबालकर और कलर आदि मिलाकर नकली काली मिर्च तैयारकर, असली काली मिर्च में मिलकर बेच देते हैं। बरामद साढ़े 8 क्विंटल नकली काली मिर्च को दिल्ली सप्लाई किया जाना था।

Police को कारोबारियों ने बताया कि 250 रुपए प्रति किलो के हिसाब से नकली काली मिर्च सप्लाई करने की उन्होंने दिल्ली के एक कारोबारी से डील की थी।

उसी के लिए गोदाम में माल तैयार किया जा रहा था।
कई जगह होता है पपीते के बीजों का इस्तेमाल

काली मिर्च बनाने का ज्यादातर कोमन तरीका पीपीते के बीज होते है। इन्हें ऑयल पेँट करने के साथ ही असली काली मिर्च के साथ मिलाकर सप्लाई किया जाता है। मिलावट के ऐसे कारोबार का पुलिस ने कई दफा भंडाफोड़ कर उन्हें सलाखों के पीछे पहुंचाया है।

मगर बरुआ पट्‌टी में गोदाम से बरामद नकली काली मिर्च बनाने का नया तरीका है। किसी ने सोचा भी नहीं होगा कि काली मिर्च के रूप में वह जहर खा रहे हैं। दरअसल मिलावटखोर सूखी छोटी मटर को सस्ते में खरीदते हैं, फिर उसे उबाल लेते हैँ। इसके बाद कैमिकल के साथ लेप करके हुबहू नकली काली मिर्च तैयार करके बाजार में सप्लाई करते हैँ।

कैसे पहचाने असली और नकली काली मिर्च

असली काली मिर्च पहचानने का बहुत ही सिंपल तरीका है। इसके लिए सबसे पहले काली मिर्च को एक गिलास अल्कोहल या पानी में डालें। पांच मिनट बाद उसमें नकली काली मिर्च के बीज ऊपर तैरते नजर आएंगे। हालांकि कभी-कभी खोखले काली बीज के बीज भी ऊपर तैरने लगते हैं। ऐसे में हाथों से दबाकर देखने पर यदि बीज नहीं टूटते हैं, तो वह पपीते या फिर मटर के बीच हैं।

2 COMMENTS

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here

- Advertisment -

Most Popular