Homeबिज़नेसमुख्यमंत्री पोर्टल पर शिकायत पर पहुँची स्पेशल इन्वेस्टिगेशन टीम। Special Investigation Team...

मुख्यमंत्री पोर्टल पर शिकायत पर पहुँची स्पेशल इन्वेस्टिगेशन टीम। Special Investigation Team reached the complaint on the Chief Minister’s Portal.

vijaybharat.in पर देखिए देश दुनिया की सभी खबरें।Picsart 22 08 21 13 21 18 612

मुख्यमंत्री पोर्टल पर शिकायत पर पहुँची स्पेशल इन्वेस्टिगेशन टीम। Special Investigation Team reached the complaint on the Chief Minister’s Portal.

रेत के वैध स्टॉक पर अवैध कार्य व जीएसटी चोरी की शिकायत पर सहारनपुर से पहुंची स्पेशल इंवेस्टिगेशन टीम ने छापेमारी की। इस दौरान टीम को देखते ही स्टॉक पर मौजूद कर्मचारी लेपटॉप,प्रिंटर सहित अन्य दस्तावेज लेकर फरार हो गए।

गुरुवार को डिप्टी कमिश्नर मनोज विश्वकर्मा के नेतृत्व में सहारनपुर से स्पेशल इन्वेस्टिगेशन की टीम बाइपास रोड़ पर स्थित रेत के स्टॉक पर जाँच करने पहुँची। टीम को आता देख स्टॉक पर मौजूद एक दर्जन से अधिक कर्मचारी लेपटॉप,प्रिंटर सहित अन्य दस्तावेज लेकर मौके से फरार हो गए। जीएसटी टीम के आने की सूचना मिलते ही खनन ठेकेदारों में हड़कंप मच गया। आनन-फानन में संचालक रेत स्टॉक पर पहुँचे, जाँच टीम द्वारा संबंधित दस्तावेज़ मांगे गए,लेकिन घण्टों बीत जाने के बाद भी खनन ठेकेदार स्टॉक से संबंधित कागज़ात नहीँ दिखा पाए। जांच टीम द्वारा बिक्री से संबंधित मांगे गए रिकॉर्ड को भी नहीँ दिखाने पर स्टॉक की पैमाइश शुरू कराई गई,जिससे खनन ठेकेदारों में हड़कंप मच गया। इस दौरान डिप्टी कमिश्नर योगेश मौर्य, डिप्टी कमिश्नर उमाशंकर विश्वकर्मा,एसिस्टेंट कमिश्नर यासिर अहमद, खनन अधिकरी शामली वशिष्ठ यादव सहित अन्य अधिकारी एंव कर्मचारीगण उपस्थित रहे जीएसटी चोरी की शिकायत पर सहारनपुर से पहुँची स्पेशल इन्वेस्टिगेशन टीम को जाँच खामियां ही खामियां नज़र आईं। बिक्री के रिकॉर्ड सुरक्षित न मिलने पर संदेह और गहरा हो गया। मौके पर सीसीटीवी कैमरे भी नहीँ लगे मिले, जिससे टीम को कुछ रिकॉर्ड हाथ लग सके। माना जा रहा है कि बड़े पैमाने पर जीएसटी चोरी की जा रही थी,क्योंकि मौके पर कोई भी ऐसा सुबूत खनन ठेकेदारों द्वारा नहीं छोड़ा गया है,जिससे जाँच टीम को कुछ बल मिल सके। पैमाइश के बाद पता चलेगा कि परमिशन के अनुरूप स्टॉक लगाया गया है या फिर सांठगांठ करके रेत का पहाड़ खड़ा कर दिया गया है।

86 हज़ार घन मीटर की है परमीशन
सेशल इन्वेस्टिगेशन टीम रेत के स्टॉक की जाँच हर एंगल से करने में जुट गई है। टीम पैमाइश करके यह साफ करना चाहती है कि 86 हज़ार घन मीटर की परमीशन के अनुरूप ही स्टॉक लगाया गया है या फिर स्थानीय संबंधित अधिकारी से सांठगांठ कर नियमों को दरकिनार किया गया है। पैमाइश के बाद ही यह साफ होगा कि स्टॉक 86 हज़ार घन मीटर लगाया गया है या फिर उससे अधिक लगाया हुआ है।

उन्होंने कहा।

मुख्यमंत्री पोर्टल पर रेत स्टॉक पर जीएसटी चोरी की शिकायत की गई थी,जिसके बाद जीएसटी विभाग की सहारनपुर टीम बिक्री से संबंधित जाँच को पहुँची है। जाँच कर रिपोर्ट तीन माह में प्रेषित की जाएगी।

WhatsApp Image 2022 08 01 at 5.33.03 PM
Vijay Bharat

1 COMMENT

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here

- Advertisment -

Most Popular