Homeशहर और राज्यमैडल गंगा में विसर्जित करने हरिद्वार हरकी पैड़ी पहुँचे, पहलवानो को मना...

मैडल गंगा में विसर्जित करने हरिद्वार हरकी पैड़ी पहुँचे, पहलवानो को मना कर वापस ले गए।

मैडल गंगा में विसर्जित करने हरिद्वार हरकी पैड़ी पहुँचे, पहलवानो को मना कर वापस ले गए।

IMG 20230531 182848Reached Haridwar Harki Pedi to immerse the medal in the Ganges, the wrestlers were persuaded and taken back.

Haridwar:
Sunny Verma की खास रिपोर्ट।

मैडल गंगा में विसर्जित करने के लिए हरिद्वार पहुंचे ओलंपिक खिलाड़ियों को भारतीय किसान यूनियन के नेता नरेश टिकैत ने समझा-बुझाकर वापस लौटा दिया। काफी देर की मान मुनव्वल के बाद खिलाड़ियों ने सभी मेडल नरेश टिकैत को सौंप दिये।  –  देखिए पूरी खबर वीडियो में 👇👇👇

अब मुजफ्फरनगर में होने वाली खाप पंचायत में आगे की रणनीति तय की जाएगी। दिल्ली के जंतर मंतर पर चल रहे धरने को जबरन समाप्त कराए जाने के बाद रेसलर साक्षी मलिक, विनेश फोगाट, बजरंग पुनिया और संगीता सहित कई समर्थक पहलवानों के साथ हरिद्वार में हर की पैड़ी पर अपने मैडल प्रवाहित करने के लिए पहुंचे हुए थे। खिलाड़ियों के इस ऐलान से हरिद्वार के प्रशासन में भी हलचल मची हुई थी। शाम 6 बजे खिलाड़ी हर की पैड़ी पर पहुंचे और काफी देर तक मौन बैठे रहे। उसके बाद भारतीय किसान यूनियन के नेता नरेश टिकैत हर की पैड़ी पर पहुंचे और खिलाड़ियों को मना कर अपने साथ ले गए। नरेश टिकैत ने कहा कि खिलाड़ियों के साथ ज्यादती हो रही है खिलाड़ी उसे बर्दाश्त नहीं कर पा रहे हैं। इस से निराश होकर उन्होंने मेडल वापस करने का निर्णय लिया था।

भारतीय कुश्ती संघ में विरोध थमने का नाम नहीं ले रहा है। संघ के अध्यक्ष बृजभूषण शरण सिंह की गिरफ्तारी पर अड़े देश के शीर्ष पहलवानों ने नाराजगी जताते हुए अपने मेडल गंगा में बहाने का ऐलान किया है। पहलवानों के ऐलान के साथ ही हरिद्वार में विरोध भी शुरू हो गया है। मंगलवार शाम को हरकी पैड़ी के भागीरथी पुल के पास मालवीय घाट पर पहुंचने के बाद पहलवानों के आंखों से आंसू झलक गए। किसान यूनियन के राष्ट्रीय अध्यक्ष नरेश टिकैट के समर्थन के बाद पहलवान मेडलों को विसर्जित किए बिना ही वापस लौट गए हैं। नरेश टिकैट ने अपने पास मेडल ले लिए हैं। सरकार को पांच दिन का समय दिया गया है। विरोध करने के लिए दिल्ली से हरिद्वार पहुंचे तीनों पहलवान सिर पर कपड़ा रखकर तीनों खिलाड़ी रोने लगे। बाद में नीचे बैठ गए है।पहलवानों के साथ कांग्रेसियों कार्यकर्ताओं की भारी भीड़ भी थी। हालांकि, इससे पहले गंगा सभा के पदाधिकारियों ने पहलवानों से आह्वान किया था कि वे अपने-अपने मेडल गंगा नदी में प्रवाहित न करें।

श्रीगंगा सभा की ओर से कहा गया है कि खिलाड़ियों का सम्मान है। खिलाड़ी आए, पूजा करें, आरती में सम्मलित हो। गंगा सभा स्वागत करेगी। कहा कि हरकी पैड़ी को राजनीतिक अखाड़ा न बनाए।

उन्होंने कहा कि हरकी पैड़ी पहुंचने पर खिलाड़ियों से अनुरोध किया जाएगा। कहा कि यदि उनकी भावना है तो सद्बुद्धि के लिए प्रार्थना करें। पहलवानों को समर्थन देने के लिए हरिद्वार कांग्रेस के सदस्य और मेयर भी हरकी पैड़ी पहुंचे। हरिद्वार मेयर अनिता, शर्मा कांग्रेस महानगर अध्यक्ष सतपाल ब्रह्मचारी, कार्यकारी अध्यक्ष अमन गर्ग समेत किसान भी पहुंचे हरकी पैड़ी। (डब्ल्यूएफआई) प्रमुख और भाजपा सांसद बृजभूषण शरण सिंह के खिलाफ नारेबाजी।

प्रदर्शनकारियों ने हाथो में पम्पलेट और पहलवानों को इंसाफ दो, बृज भूषण मुर्दाबाद के नारे भी लगाए। आपको बता दें कि आज 30 मई को गंगा दशहरा के अवसर पर तीर्थ यात्रियों की भारी भीड़ देखने को मिली। देश के चोटी के पहलवान बजरंग पूनिया, साक्षी मलिक, विनेश फोगाट और संगीत फोगाट समेत अन्य पहलवान पिछले 23 अप्रैल से दिल्ली के जंतर-मंतर पर अपना धरना प्रदर्शन कर रहे थे।

इन सभी ने भारतीय कुश्ती संघ के अध्यक्ष बृजभूषण शरण सिंह पर महिला पहलवानों के यौन शोषण का आरोप लगाया है। इनमें एक नाबालिग महिला पहलवान भी शामिल हैं। आपको बता दें कि इससे पहले पहलवानों ने ऐलान किया कि वो हरिद्वार में जाकर अपने मेडल गंगा में बहा देंगे।

अब हरिद्वार पुलिस की तरफ से कहा गया है कि वो गंगा में मेडल बहाने आने वाले पहलवानों को हरिद्वार में घुसने से नहीं रोकेंगे।

WhatsApp Image 2022 08 01 at 5.33.03 PM
Vijay Bharat

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here

- Advertisment -

Most Popular