Homeकरियरकभी भी भगवान की पीठ को न देखें और न ही प्रणाम...

कभी भी भगवान की पीठ को न देखें और न ही प्रणाम या प्रार्थना करें!

कभी भी भगवान की पीठ को न देखें और न ही प्रणाम या प्रार्थना करें!

IMG 20221112 081114

Never look at the back of God, nor pray or pray!

मंदिर में परिक्रमा लेते समय भगवान या देवी की पीठ को प्रणाम करने का चलन बहुत हो गया है!

किसी भी भगवान या देवी देवताओं की पीठ को प्रणाम करने से समस्त पुण्यों का नाश हो जाता है!

IMG 20221112 081017

इसका प्रमाण भागवत कथा में एक प्रसंग में इस प्रकार बताया गया है कि जरासंध के साथ युद्ध के समय एक काल यवन नाम का राक्षस जरासंध की तरफ से युद्ध करने के लिए युद्ध स्थल में श्री कृष्ण भगवान जी से युद्ध करने आ गया!

काल यवन भयानक राक्षस के अलावा सत्कर्म करने वाला भी था।

श्री कृष्ण भगवान जी इस राक्षस के वध के पहले इसके समस्त सत्कर्मों को नष्ट करना चाहते थे। सत्कर्म नष्ट होने से सिर्फ इस दुष्ट को दुष्टता के कर्मफल मिलें व उसका वध किया जा सके!
vijaybharat.in जो कहूंगा सच कहूंगा।

इसलिये श्री कृष्ण भगवान जी मैदान छोड़ कर भागने लग गये! भगवान आगे आगे राक्षस काल यवन पीछे पीछे भाग रहे हैं!

इससे राक्षस काल यवन को भगवान की पीठ दीखती रही और उसके सभी सत्कर्मों का नाश होता रहा!

भगवान श्रीकृष्ण की इस युक्ति के पीछे यह राज था कि राक्षस काल यवन के अर्जित सत्कर्मों का नाश हो जाये ताकि दुष्ट को दुष्टता का फल मिले
व उसे मारा जा सके!

जब काल यवन के समस्त सत्कर्म भगवान श्री कृष्ण के पीछे-पीछे दौड़कर पीठ देखने के कारण नष्ट हो गए उसके बाद ही उसका वध संभव हो सका!

इसलिए कृपया किसी मंदिर की फेरी परिक्रमा लेते समय देवी देवताओं की पीठ को प्रणाम न करें और न ही पीठ को देखें! बल्कि उनके सम्मुख हाथों को जोड़कर प्रार्थना,अर्चना व आराधना करें।

Picsart 22 11 12 08 14 26 369

इस अज्ञानता को खत्म करने को ज्यादा से ज्यादा सज्जनों तक यह कथा पहुचाने में सहयोगी बने! ताकि सबके सत्कर्मों को क्षीण होने से बचाया जा सके!

WhatsApp Image 2022 08 01 at 5.33.03 PM
Vijay Bharat

1 COMMENT

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here

- Advertisment -

Most Popular