Homeटेकगैजेट्सशास्त्रीनगर में दिन-दहाडे हुए सनसनीखेज हत्याकांड का थाना नौचन्दी पुलिस व एसओजी...

शास्त्रीनगर में दिन-दहाडे हुए सनसनीखेज हत्याकांड का थाना नौचन्दी पुलिस व एसओजी टीम ने किया खुलासा।

vijaybharat.in जो कहूंगा सच कहूंगा।

शास्त्रीनगर में दिन-दहाडे हुए सनसनीखेज हत्याकांड का थाना नौचन्दी पुलिस व एसओजी टीम ने किया खुलासा।IMG 20220915 181122

Nauchandi police and SOG team disclosed the sensational murder case in broad daylight in Shastrinagar.

मेरठ:- 13 सितंबर 2022 को वादी द्वारा अपनी पुत्रवधु द्वारा बेटे मृतक प्रदीप शर्मा की हत्या करवाने के सम्बन्ध में लिखित तहरीर दी गई जिसके सम्बन्ध में थाना नौचन्दी पर मु0अ0स0 311/22 धारा 302 भा0द0वि0 पंजीकृत किया गया। घटना की गम्भीरता को देखते हुए वरिष्ठ पुलिस अधीक्षक मेरठ द्वारा तत्काल घटना के शीघ्र अनावरण व अभियुक्तगण की गिरफ्तारी हेतु एसओजी टीम व थाना प्रभारी नौचन्दी को निर्देशित किया गया था।

SOG Team व थाना नौचन्दी पुलिस द्वारा इलेक्ट्रानिक सर्विलांस, मैनुअल इंटेलिजेंस बयान व पूछताछ भौतिक व परिस्थितिजन्य साक्ष्य एवं अन्य संकलित किये गये साक्ष्यों के आधार पर हत्या की घटना को त्वरित खुलासा करते हुए धारा 120 बी की बढोत्तरी करते हुए घटना को षडयंत्र के तहत अंजाम देने वाली अभियुक्ता नीतू शर्मा पत्नी स्व0 प्रदीप शर्मा पुत्री कृष्ण चन्द शर्मा नि0 सबका थाना छपरौली जनपद बागपत हाल नि0 एल-2/1727 शास्त्रीनगर थाना नौचन्दी मेऱठ को दिनांक 14.09.22 को गिरफ्तार किया गया।

अभियुक्ता नीतू पत्नी स्व0 प्रदीप पुत्री कृष्ण चन्द्र शर्मा नि0 ग्राम सबका थाना छपरौली जिला बागपत ने पूछताछ में बताया कि मेरी शादी दिनांक 07.07.2007 को राहुल पुत्र देवेन्द्र शर्मा नि0 बमनपुरा थाना खरखौदा जनपद मेरठ के साथ हुई थी जिनकी 08.11.2016 को मवाना रोड पर एक्सीडेन्ट हो जाने कारण मृत्यु हो गयी थी।मृत्यु के 08 माह बाद मैंने अपने देवर प्रदीप शर्मा से कोर्ट मैरिज कर ली थी। प्रदीप शर्मा शराब पीने का आदी था आये दिन मुझसे झगडता रहता था और बहुत फिजूल का खर्च करता रहता था।

प्रदीप शर्मा ने मेरे ममेरे भाई दीपांशू शर्मा के खिलाफ थाना लिसाडी गेट में धारा 307 का झूठा मुकदमा लिखवा दिया था। उससे मैं तंग आ चुकी थी। वह मेरे पास भी नही रहता था तथा मुझे व मेरे मकान में से कुछ भी नही देने की धमकी देता था। उसके पिता देवेन्द्र शर्मा भी उसके कहने में रहते थे। और प्रदीप ने उनसे जमीन बिकवाकर पैसे उडाने शुरु कर दिये।

जिस मकान में रहती हूँ। उस मकान का भी सौदा कर रहा था। इस बात से तंग व परेशान होकर मैंने ममेरे भाई दीपांशू पुत्र सुनील शर्मा नि0 सबका थाना छपरौली जिला बागपत के साथ मिलकर प्रदीप को रास्ते से हटाने की योजना बनायी। दीपांशू ने अपने साथी मनीष शर्मा व समीर से सारी बात बताकर उनसे प्रदीप से हटाने की बात की। अब से 05 दिन पहले समीर व मनीष से डेढ लाख रुपये में प्रदीप को मारने की बात तय हो गयी और हम चारों ने मिलकर योजना बनायी कि प्रदीप शर्मा को फैसला करने के झांसे में लेकर घर बुलाया जाये और मौका देखते ही उसकी हत्या कर दी जाये।

मैंने प्रदीप से कहा कि वह मेरे दोनों बच्चो पीयूष शर्मा व पीहू शर्मा के नाम 5-5 लाख रुपये एफडी कर देगा तो मैं उसे अपने बच्चों के साथ घर में रख लूंगी। इस सम्बन्ध में प्रदीप से बात की तो वह राजी हो गया और योजना के मुताबिक कल हमने उन्हे पैसे लेकर सुबह 11 बजे शास्त्रीनगर मकान पर आने के लिए कहा था। मैं घर पर ही मौजूद थी समीर व मनीष मोटर साईकिल से प्रदीप को मारने के लिए उनके आने से पहले ही कालोनी में आकर मंदिर के पास खडे हो गये। प्रदीप, भीष्म की गाडी से शास्त्रीनगर मेरे पास घर आये फिर मैने कहा अभी एफडी कराने बैंक चल रहें है। तुम बाहर मंदिर पर श्राद्ध का दौना रख आओ तो वहां वह भीष्म से बात करने लगे जब लौटकर कमरे की तरफ आ रहे थे तभी मौका देखकर मनीष शर्मा पुत्र रवेन्द्र शर्मा नि0 ग्राम भटीपुरा थाना किठौर जनपद मेरठ व समीर सैफी उर्फ सैम पुत्र सगीर सैफी निवासी गैसूपुर थाना भावनपुर जनपद मेरठ ने गोलियां मारकर प्रदीप की हत्या कर दी और वहाँ से भाग गये।

भीष्म व अन्य मोहल्ले वाले प्रदीप को उठाकर अस्पताल ले गये और मैं वहाँ से सीधे अपने ममेरे भाई दीपांशू के पास गई। दीपांशू स्कूल से भाग गया और मैं घर वापस आ गई। मैंने आकर पता किया तो लोगों ने बताया कि प्रदीप की मृत्यु हो गयी है तब मुझे संतुष्टी हुई।

उक्त घटना में प्रकाश में आये अभियुक्त मनीष शर्मा पुत्र रवीन्द्र शर्मा नि0 ग्राम भटीपुरा थाना किठोर जनपद मेरठ व समीर सैफी उर्फ सैम पुत्र सगीर सैफी नि0 गेसूपुर थाना भावनपुर जनपद मेरठ को थाना परतापुर पुलिस व एसओजी टीम द्वारा अभियुक्तगण द्वारा घटना करके दिल्ली भाग जाने के प्रयास में लाल बिल्डिंग परतापुर में मुठभेड हो गयी। पुलिस ने आत्मरक्षार्थ गोली चलाई जिससे अभियुक्त समीर उपरोक्त घायल हो गया। अभियुक्त समीर उपरोक्त से उक्त घटना में प्रयुक्त पिस्टल (आला कत्ल) व मोटरसाईकल संख्या UP15DL 3408 को बरामद किया जो अभियुक्तगण द्वारा दिनांक 13.09.22 को थाना भावनपुर क्षेत्र से लूटी थी । उसका साथी मनीष शर्मा भागने में सफल रहा।

WhatsApp Image 2022 08 01 at 5.33.03 PM
Vijay Bharat

2 COMMENTS

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here

- Advertisment -

Most Popular