Homeशहर और राज्यसपेरों के चंगुल से 51 सांपों को कराया मुक्त, 49 कोबरा, एक...

सपेरों के चंगुल से 51 सांपों को कराया मुक्त, 49 कोबरा, एक अजगर और एक रैट स्नेक कराए मुक्त।

सपेरों के चंगुल से 51 सांपों को कराया मुक्त, 49 कोबरा, एक अजगर और एक रैट स्नेक कराए मुक्त।

IMG 20230726 070504

51 snakes, 49 cobras, a python and a rat snake were freed from the clutches of snake charmers.

मंगलवार को वन विभाग की टीम और वाइल्ड लाइफ एसओएस ने कैलाश, बालकेश्वर, मनकामेश्वर, राजेश्वर, रावली, भूतेश्वर, रंगेश्वर, गलतेश्वर और पृथ्वीनाथ नामक शिवमंदिरों से कई सांपों को मुक्त कराया।

IMG 20230726 070415

Vijay Bharat News
Vijaybharat.in पर देखिए देश दुनिया की सभी खबरें।

मंगलवार को वाइल्ड लाइफ एसओएस और वन विभाग ने अभियान चलाकर 51 पूर्ण विकसित सांपो को सपेरों के चंगुल से मुक्त कराया। दरअसल, ये सपेरे श्रावण के महिने में सांपों को जंगल से पकड़ कर सबसे पहले उनकी विषग्रंथि को तोड़ देते हैं। बाद में इन्हीं सांपों की प्रदर्शनी कर पैसे कमाते हैं।

IMG 20230726 070350

विषग्रंथि के नष्ट कर दिए जाने के बाद सांप जहरीले नहीं रह जाते और फिर उनकी प्रदर्शनी कर ये सपेरे पैसे कमाते हैं। मंगलवार को आगरा वन विभाग की टीम और वाइल्ड लाइफ एसओएस ने कैलाश, बालकेश्वर, मनकामेश्वर, राजेश्वर, रावली, भूतेश्वर, रंगेश्वर, गलतेश्वर और पृथ्वीनाथ नामक शिवमंदिरों से कई सांपों को मुक्त कराया।

प्राप्त जानकारी के मुताबिक, संयुक्त टीमों ने सपेरों के चंगुल से 51 सांपों को मुक्त कराया है। जिसमें 49 कोबरा, एक अजगर और एक रैट स्नेक शामिल हैं। टीम ने आगरा के प्रसिद्ध शिव मंदिरों से 51 सांप जब्त किए हैं। मुक्त कराए गए सभी सांप काफी पुराने नजर आते हैं। हालांकि इनकी विषग्रंथि को नष्ट कर दिया गया है जिस वजह से अब ये जहरीले नहीं रह गए हैं।

IMG 20230726 070504 1

 

बता दें कि वाइल्ड लाइफ एसओएस वन्य जीवों के संरक्षण के लिए काम करने वाली एक गैर-लाभकारी संस्था है। जिसकी स्थापना साल 1995 में की गई थी। इसका मकसद संकटग्रस्त वन्यजीवों को बचाने और पुनर्वास करना एवं भारत की प्राकृतिक विरासत को संरक्षित करना है। यह वर्तमान में दक्षिण एशिया के सबसे बड़े वन्यजीव संगठनों में से एक है।

WhatsApp Image 2022 08 01 at 5.33.03 PM
Vijay Bharat

1 COMMENT

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here

- Advertisment -

Most Popular